आइए, एक अदद बिटक्वाइन क्यों न अपन भी खरीद लें

शायद बुढ़ापे का सहारा बन जाए

2 टिप्पणियाँ "आइए, एक अदद बिटक्वाइन क्यों न अपन भी खरीद लें"

  1. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन मंगल पाण्डेय और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिटकॉइन पर पिछले एक साल से नजर जमाये बैठे हैं. बीस हजार रुपये से एक लाख तक पहुँचते तो देख ही लिए हैं. :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.