इस बेदर्द जमाने में यारों, छटांक भर विनम्रता आखिर लाएँ कहाँ से?

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

 

image

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

5 टिप्पणियाँ "इस बेदर्द जमाने में यारों, छटांक भर विनम्रता आखिर लाएँ कहाँ से?"

  1. आपको नए साल के आगमन पर शुभ कामनाएं |
    300 से ज्यदा तकनिकी पोस्ट |

    http://siwanrinku.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहोत अच्छा लगता है आपका हिंदी ब्लॉग पढकर

    हिंदी ब्लॉग

    हिन्दी दुनिया ब्लॉग

    उत्तर देंहटाएं
  3. सांसदों, विधायकों और महिलाओं से विनम्र रहो, वर्ना भूखे मर जाओगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. इसमें अनकही सूचना यह है कि सांसद और विधायक विनम्रता बरतने से मुक्‍त कर दिए गए हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत कठिन है डगर पनघट की।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.