भाषा इंडिया, ये कौन सी भाषा है?

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

माइक्रोसॉफ़्ट भाषा इंडिया पर देबाशीष का साक्षात्कार पढ़ते पढ़ते माउस इधर उधर विचरने लगा. एक कड़ी दिखी जिसमें भाषाई नया पन था. बानगी आप भी देखें-

(बड़ा आकार देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें)

यह आंशिक पाठ कुछ इस तरह है -

कया आप कुछ अनुक्रमणिका बताएगें मलटिमीडिया के बारे में
जी हाँ, जरुर..। हम कई रखमों में अनुक्रमणिका बनवाए है। हमने कहानी में सराशं मे, दोहे में नाटक में, नोवल में, शिकशा मे, साफटवेर मे, परिचय मे, सेहत और कई रखमें में बनवये है। और प्रोडियुस किये है। और हमने सीखना सीखाना में भी प्रोडियुस किया जैसा के हिन्दी सें अंग्रेची पडना और अंग्रेची मे पडना आदी...। और हम कई ज्ञ्यादी भाष में भी आविशकार करने कि कोशिश कर हे।

आपका भविशय सोचना कया है और आपका इस मारकेट में किस हद तक जाने का समभावना है।
मै जब भी मलटिमीडिया के बारे में सोचता हुँ, तब मुझे बोहत अच्छी तरह यकीन होता है के इसमे भविशय तोहत अच्छा रहेंगा। कयों के आज मारकेट में मलटिमीडिया का जो मुखाम है, तो लोगों मे बडता जा रहा है। बस एक चीज हमें धयान में रखना है के हमारा दाम, काम, और माल सही तरह से और अचछी तरह से चले।

किस हाल में मलटिमीडिया बदलाव आयेगा भविशया में
आज हमें सीडी में कारटुन, अनिमेशन आदी बनाते है, उमीद बनाते है के भविशय में सब कुछ बदला जाएगा और सीडी का उपयोग कम होचाएगा यानी और नये नये अविशकार करेगे।
(आंशिक पाठ माइक्रोसॉफ़्ट भाषा इंडिया से साभार)

भाषा इंडिया, ये कौन सी भाषा है? और, लोग-बाग़ हम हिन्दी-चिट्ठाकारों की भाषाओं पर सवालिया निशान लगाते रहते हैं!

Tag ,,,

Add to your del.icio.usdel.icio.us Digg this storyDigg this

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

7 टिप्पणियाँ "भाषा इंडिया, ये कौन सी भाषा है?"

  1. रवि भैया, ये क्यों भूलते हैं कि ये वही भाषा इंडिया वाले हैं जिन्होंने आपका, देबू दा का और अपने ढेरों ब्लॉगर भाई लोग का इनामवा गपच लिया था ;)

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाषा का ऐसा बलात्कार देखकर मन भर आया है ।

    बस यही दिन देखना बाकी था ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. संजय बेंगाणी12:35 pm

    ये कैसी भाषा? वह भी प्रतिष्ठीत संजाल पर!

    इससे अच्छा हो संजाल वाले दो चार ब्लोगरों को ही लिखने के लिए रख ले.

    आज पहली बार लग रहा है, मैं खराब नहीं लिखता ;)

    उत्तर देंहटाएं
  4. या तो लिखने वाले का पहला प्रयास है.... या....

    उत्तर देंहटाएं
  5. अब क्या कहें...विनय भाई, कहाँ हो!!! :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. अगर हम सतर्क नहीं रहे तो मानविकी,विशेषकर भाषा के लिये बहुत बुरा समय आने वाला है . यह उसकी पूर्वसूचना है . शुरुआती लक्षण .

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.