संदेश

December, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

स्टीफन हॉकिंग - 75 वर्षीय जिजीविषा को सलाम!

चित्र
स्टीफन हॉकिंग 75 साल के हो गए। कोई 50 साल पहले डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए थे और कहा था कि हॉकिंग साल-दो-साल और जी पाएंगे।

परंतु उन सभी को धता बताते हुए वे जिंदगी की लड़ाई लड़ रहे हैं। वैसे, आधुनिक तकनीक और चिकित्सा सुविधा से भी यह संभव हो सका है। बहुतों के प्रेरणा स्रोत हैं हॉकिंग। खासकर गंभीर रूप से बीमार लोगों के लिए।
स्टीफन हॉकिंग को ढेर सारी शुभकामनाएं।

हाय! 101 वें साल में हमारा क्या होगा?

चित्र
और, हमारे 500 वें साल का, 1000 वें साल का क्या?

क्या पॉलिटिक्स है पार्टनर?

चित्र
आप वामी हैं, आपिए हैं, दक्षिण पंथी हैं या फिर शुद्ध कांगी। आप जो भी हैं, इसके जिम्मेदार आप नहीं हैं!

आ गया! मुफ़्त, निःशुल्क, शुद्ध परिणाम वाला हिंदी ओसीआर

चित्र
और, यह इंडसैंज के हिंदी ओसीआर से भी अधिक शुद्ध है. यदि इसे कमांड मोड में बैच मोड में इस्तेमाल किया जाए, तो यह तेज भी है. बहरहाल, इसके इंस्टाल करने व इस्तेमाल करने के बारे में विस्तृत जानकारी श्रीदेवी कुमार ने गूगल तकनीकी हिंदी समूह में दी है, जिसे यहाँ दी जा रही है. मैंने इसे प्रयोग किया और पाया कि ठीक-ठाक इमेज फ़ाइल में अशुद्धि का प्रतिशत पांच (5) प्रतिशत से भी कम है. और यही बात इस निशुल्क, ओपनसोर्स ओसीआर को लाजवाब बनाती है. यह वस्तुतः ओपनसोर्स ओसीआर प्रोग्राम टैसरैक्ट का जीयूआई पोर्ट है.इसे प्रयोग करने की विधि यह है -1. निम्न लिंक में से अपने कंप्यूटर के हिसाब से प्रोग्राम को डाउनलोड कर इंस्टाल करें. यदि आप सुनिश्चित नहीं हैं कि आपका कंप्यूटर 64 बिट का है या 32 बिट का तो आप नीचे वाली लिंक का प्रोग्राम डाउनलोड कर इंस्टाल करें. यह सभी कंप्यूटरों में काम करेगा: https://smani.fedorapeople.org/tmp/gImageReader_3.2.0_qt5_x86_64_tesseract-25fed52.exehttps://smani.fedorapeople.org/tmp/gImageReader_3.2.0_qt5_i686_tesseract-25fed52.exe2. उसके बाद 4.0.0alpha Hindi traineddata यहाँ से डाउनलोड क…

अक्षर - यूनिकोड हिंदी रेमिंगटन कुंजीपट युक्त - बहुभाषी, बहु-सुविधा युक्त भारतीय भाषाई शब्द संसाधक

चित्र
इस बहुभाषी बहु-सुविधा युक्त शब्द संसाधक को भानुमति का पिटारा कह सकते हैं.क्योंकि इसमें है -हिंदी, गुरुमुखी, शाहमुखी और अंग्रेजी  लिपि में लिखने की सुविधाप्रत्येक लिपि में दर्जनों कीबोर्ड में लिखने की सुविधा.उदाहरण के लिए, हिंदी में -इनस्क्रिप्टअनमोल हिंदीचाणक्यडेवलिसकृष्णाकृतिदेवकुंडलीमुगलनारदपारसशुषाकीबोर्ड लेआउट से हिंदी यूनिकोड टाइपिंग की सुविधा. और, यह विंडोज़ 10 में शानदार काम करता है.इसका अर्थ है कि विंडोज 10 में रेमिंगटन कीबोर्ड लेआउट से यूनिकोड टाइप करने की चिरकालिक समस्या का निदान.सोने में सुहागा यह है कि इसमें हिंदी का अंतर्निर्मित वर्तनी जांचक (स्पेल चेकर) भी है. हालांकि चलाने में यह थोड़ा अजीब किस्म का है, और टाइप करते वर्तनी जांच की सुविधा नहीं है.क्या इतने से ही इसे भानुमति का पिटारा कह सकते हैं? बिल्कुल नहीं.  आगे और भी सुविधाएँ हैं इसमें -[ads-post]बहुभाषी लिप्यंतरण (पुराने फ़ॉन्ट की सामग्री को यूनिकोड में) की सुविधाहिंदी में -तीन दर्जन से अधिक फ़ॉन्ट को यूनिकोड में बदलने की सुविधा. वह भी फार्मेटिंग, फ़ॉन्ट आकार, फ़ॉन्ट रंग आदि में बिना किसी बदलवा के, फ़ॉर्मेटिंग बनाए …

व्यंग्य जुगलबंदी : तूने किया कैसा ये कर्म है, देश दिसम्बर में भी गर्म है

चित्र
दिसम्बर में देश

(चित्र साभार - कस्बा ब्लॉग)

दिसम्बर की एक सुबह, कड़ाके की ठंड में ठिठुरता दुकालू देश का हाल जानने के लिए निकला।


सबसे पहले उसकी मुलाकात हल्कू से हुई। अपने खेत में हल्कू सदा सर्वदा की तरह आज भी जुटा हुआ था। मौसम की मार और बिगड़ी बरसात ने पिछली फसल खराब कर दी थी तो उसके लंगोट का कपड़ा प्रकटतः  इंच भर और छोटा हो गया था। और सदा की तरह उसकी छाती उधड़ी हुई थी, जिसे वस्त्र सुख वैसे भी वार-त्यौहार ही हासिल हो पाता था। ठंडी बर्फीली हवा जहाँ पूरी दुनिया में ठिठुरन पैदा कर रही थी, हल्कू के पसीने से चचुआते शरीर को राहत प्रदान कर रही थी ।


दुकालू आगे बढ़ा। सामने स्मार्ट  सिटी की नींव खुद रही थी। काम जोर शोर से चल रहा था। होरी नींव खोदने के दिहाड़ी काम में लगा था। होरी ने जब से होश संभाला है तब से उसने दैत्याकार भवनों की नींव ही खोदी है। अनगिनत भवनों को उनकी  नींव की मजबूती होरी के पसीने की बूंदों  से ही मिली है। लगता है जैसे सर्वशक्तिमान परमपिता परमेश्वर ने उसे खास इसी काम के लिए बनाया है। हां, उसी ईश्वर ने, जिसने ब्रह्मांड बनाया, निहारिकाएं बनाई और, और यह उबड़-खाबड़ धरती भी बना…

फेसबुक तूने बहुत दुखी कीना

चित्र

संगीत श्रवण पुनर्परिभाषित - डॉल्बी एटमॉस

चित्र
संगीत के दीवानों के लिए - आपके एंड्रॉयड स्मार्टफ़ोन पर आ गया है - डॉल्बी एटमॉस। लिनोवो तथा मोटोरोला के कुछ फोन पर यह उपलब्ध है और खबर है कि अगले साल यह विंडोज व एक्सबाक्स में भी उपलब्ध हो जाएगा। मैंने इस तकनीक को हाल ही में जांचा परखा और पाया है कि यह वास्तव में अविश्वसनीय रूप से उत्तम है। हालांकि संगीत का यह उत्तम अनुभव तभी मिलेगा जब आपके संग्रह में आधुनिक, उच्च गुणवत्ता के गीत संगीत हों।
उदाहरण के लिए, राजकपूर के गाने में अनुभव सही नहीं मिलता है क्योंकि तब रिकार्डिंग तकनीक अच्छी नहीं थी। परंतु हृतिक रौशन, जाकिर हुसैन, ब्रिटनी स्पीयर्स के गीत डॉल्बी एटमॉस से सुनने में एक नया समां बांध देते हैं।

अबकी, मौका हमें भी तो दो!

चित्र
अबकी बार, किसकी सरकार?

सन् 2016 का वैरायटीज़ से भरा साल - कार्टूनिस्टों की नज़र में

चित्र
कार्टूनिस्टों की नजर में वर्ष 2016 कैसा रहा? लेखा जोखा दिसम्बर 2016 के हिंदी फ़ेमिना में उपलब्ध है. इस्माइल लहरी, मन्जुल, कीर्तीश भट्ट और अजीत नैनन मौजूद हैं यहाँ. मेरे पसंदीदा कार्टूनिस्ट काजल कुमार को भी होना चाहिए था यहाँ, मगर ख़ैर. मैंने फ़ेमिना के इस अंक को अपने स्मार्टफ़ोन में मुफ़्त जियो मैग्स ऐप्प के जरिए पढ़ा है और इसके कुछ पन्ने आपसे नीचे साझा किए हैं - ऐप्प पर वहाँ मौजूद साझा विकल्प के जरिए. यदि आपके पास रिलायंस जियो कनेक्शन है तो आप भी जियो मैग्स ऐप्प डाउनलोड कर यह अंक मुफ़्त में डाउनलोड कर इसका आनंद उठा सकते हैं - हाँ, अच्छे अनुभव के लिए आपके स्मार्टफ़ोन की स्क्रीन पांच इंच या बड़ी होनी चाहिए. टैबलेट पर यह और अच्छे से पढ़ा जा सकता है. बाजार में प्रिंट मैग्जीन का विकल्प तो खैर है ही - कीमत - केवल 40 रुपए.

व्यंग्य जुगलबंदी - कैशलेस इकॉनॉमी

चित्र
“भारत में कैशलेस इकॉनॉमी”. पर एक मेघावी विद्यार्थी (वो, जाहिर है, सीए इन्टर्न था) का लिखा निबंध आपके अवलोकनार्थ अविकल प्रस्तुत है –कैशलेस इकॉनॉमी की सोच बहुत ही फासीवादी, निरक्षर किस्म की, तुगलकी, फूहड़ और निकृष्ट विचार वाली है. यह ऐसा विचार है, जिसको अपना कर भारत प्रागैतिहासिक काल वाली स्थिति में पहुंच जाएगा. बहुत पीछे चला जाएगा. उसकी प्रगति खत्म हो जाएगी. भारत में क्या, कहीं भी कैशलेस इकॉनॉमी की व्यवस्था नहीं होनी चाहिए. कैशलेस इकॉनॉमी भी कोई इकॉनॉमी होती है भला? जहाँ कैश नहीं वहाँ इकॉनॉमी कैसी? कैशलेस इकॉनॉमी से बहुतों का धंधा चौपट हो जाएगा. सबसे पहले चार्टर्ड एकाउन्टेंटों का धंधा चौपट होगा. जब हर ट्रांजैक्शन, हर लेन-देन खाता बही में दर्ज होगा, सारा कुछ ब्लैक एंड व्हाइट में दर्ज होगा, तो फिर भला हम चार्टर्ड एकाउन्टेंटों को कौन पूछेगा? कैशलेस इकॉनॉमी से भयंकर मंदी आएगी. ऐसी मंदी जिससे देश कभी उबर नहीं सकेगा. कैशलेस सिस्टम से दो नंबर का धंधा बंद हो जाएगा, जिससे बहुत सारी इंडस्ट्री बंद हो जाएगी. स्टील और सीमेंट आदि सैक्टर में तो तालाबंदी हो जाएगी. जिस देश की इंडस्ट्री में सत्तर प्रत…

सरदी की वापसी उर्फ एक मफलर की वापसी

चित्र
एक गुलुबन्द यानी मफलर की वापसी.शीर्षक में आधुनिक, कूल-डूड, भारतीय पाठकों को गुलुबन्द का अर्थ बताना बनता है ना? नहीं तो बहुत से लोगों को आइडेन्टिटी क्राइसिस हो जाएगा. बहरहाल, सरदी का मौसम लौट आया है और साथ में गुलुबन्द भी. मैंने भी अपनी आलमारी से अपना गुलुबन्द निकालने की कोशिश की तो उसने निकलने से मना कर दिया. मैंने पूछा, भइए, क्या बात है? किस बात की नाराजगी? तो वह बेहद भावुक हो गया. देश में भावुक होने का मौसम है. प्रधान मंत्री से लेकर प्रधान न्यायाधीश सभी भावुक हो रहे हैं. हर छोटी बड़ी बात पर. मैं भी बड़ा भावुक होकर यह तथाकथित व्यंग्य जुगलबंदी लिख रहा हूँ – जिसे पढ़कर (या शायद घोर अपठनीय होने के कारण हिकारत से देख कर) पाठक लोग और ज्यादा भावुक होंगे और कहेंगे – ये व्यंग्य है? व्यंग्य का स्तर इतना न्यून! फिर वे और भावुक हो जाएंगे. तो, बात गुलुबन्द की भावुकता की हो रही थी. वो बेहद भावुक होकर बोला – किसी ने मेरी अपनी इच्छा, मेरी अपनी अभिलाषा पूछी है? फिर उसने पूरी भावुकता में अपनी अभिलाषा कुछ यूँ बयान की - गुलुबन्द यानी मफलर की अभिलाषाचाह नहीं, मैं सुरबाला के
गले में लिपट जाऊँ,
चाह नहीं…

कैशलेस की टेक्नोलॉजी : आइए, कैशलेस अपनाएँ और सुखी रहें

कल्पना कीजिए कि आप बाहर यात्रा के लिए निकले हैं, ट्रेन पकड़नी है, और समयाभाव व ट्रैफ़िक जाम की वजह से थोड़ी जल्दी में भी हैं. अचानक आपको याद आता है कि आप अपना टूथब्रश और टूथपेस्ट रखना भूल गए हैं. कोई बात नहीं, आप इसे रास्ते चलते परचून की दुकान से खरीदने के लिए रुक जाते हैं. दुकान वाला पहले ही किसी अन्य खरीदार से जूझ रहा होता है. उसे निपटाकर वह आपसे मुखातिब होता है. आप जल्दी में हैं, आपके ट्रेन छूट जाने का समय हो रहा है, मगर दुकानदार को आपकी यह अर्जेंसी पता नहीं है, तो वो अपने हिसाब से आपको सामान देता है. फिर आप खरीदी हुई वस्तु का भुगतान करते हैं तो एक और समस्या आती है. आपके पास केवल बड़े नोट हैं और दुकानदार के पास आपको देने को पर्याप्त छुट्टे नहीं हैं. इस आपाधापी में आपकी ट्रेन छूट जाती है.

अब अपनी इस कल्पना में थोड़ा सा ट्विस्ट कीजिए. आप जिस दुकान पर टूथपेस्ट लेने जा रहे हैं, वहाँ आरएफआईडी सेंसर युक्त कॉन्टैक्टलेस पेमेंट की सुविधा है और आपने भी कॉन्टैक्टलैस पेमेंट वाला आरएफआईडी टैग युक्त रिस्टबैंड पहना हुआ है. आप दुकान में घुसते हैं, टूथपेस्ट, टूथब्रश उस दुकान के काउंटर से उठाते ह…

खाए, पिए, अघाए और... तरक्की पसंद नहीं करने वालों का है फेसबुक!

चित्र

सदी का सबसे बड़ा सरकारी चुटकुला

चित्र

डीओटी : देशभक्ति ऑफ़ थिंग्स

चित्र
दुनिया में आईओटी यानी इंटरनेट ऑफ़ थिंग्सकी विचारधारा अभी आई ही थी, कि अब एक नई विचारधारा ने पूरी दुनिया को लपेट में ले लिया है. डीओटी यानी देशभक्ति ऑफ़ थिंग्स. इतना कि इसके सामने इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स प्रागैतिहासिक काल की अवधारणा लगने लगी है. अब पूरी दुनिया देशभक्ति ऑफ़ थिंग्स की ओर तेजी से अग्रसर हो रही है. न्यूयॉर्क से लेकर बस्तर तक और दिल्ली से लेकर वाशिंगटन तक लोग अपना अपना राष्ट्रगान हर यथासंभव स्थान और समय पर गा रहे हैं और राष्ट्रवाद का ट्रम्पेट बजा रहे हैं. आइए, आपको ले चलते हैं कुछ लाइव शो में जहाँ आप देखेंगे कि देशभक्ति ऑफ़ थिंग्स के पीछे भारतीय मन मानस किस तरह डूब-उतरा रहा है – दृश्य एक – सीपीडबल्यूडी हैडक्वार्टर पर एक नामचीन ठेकेदार, महा-मुख्य-अभियंता से जो अपना पिछला तीन टर्म एक्सटेंशन करवाने में ऑलरेडी महा-सफल हो चुके हैं : “सर, एक जबरदस्त राष्ट्रवाद स्कीम का आइडिया लाया हूँ. सीधे पचास परसेंट का खेल हो सकता है. पूरे देश में मकानों-दुकानों-सरकारी-गैर-सरकारी बिल्डिंगों के बाहरी रंग को अनिवार्य रूप से तिरंगे रंग में करने का प्लान लाया जाए. टेंडर और वर्क-ऑर्डर तो सदा की तरह अपन…

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें