संदेश

August, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आस्तीन के सांपों क्या कोई कमी थी!

चित्र

धर्म और राजनीति - एक पुनर्परिभाषा

चित्र
धर्म और राजनीति के बीच रिश्ता - रीडिफ़ाइन्ड. वैसे भी यह रिश्ता भारत में (पति-पत्नी?) जो न करा दे! अब जब धर्म और राजनीति में चोली-दामन – नहीं नहीं, बल्कि पति पत्नी का रिश्ता हो गया है, सर्टिफ़ाइड किस्म का जिस पर कोहराम हो रहा है, तो ऐसे और भी रिश्ते होंगे जमाने में, जिन्हें पुनर्परिभाषित किए जाने की जरूरत है.  यदि धर्म पति है और राजनीति पत्नी (या इसके ठीक उलट भी ?) तो इस लिहाज से और भी बहुत बहुत चीजों के बारे में नए सिरे से रिश्ते गढ़े जा सकते हैं. ये हैं कुछ गीकी परिभाषाएँ (आप चाहें तो इन्हें पुनर्परिभाषित मान सकते हैं! और साथ ही किसी को गलत लगे तो इसका उल्टा भी मान सकते हैं माने पत्नी की जगह पति और पति की जगह पत्नी). प्रवचन सुनने-सुनाने के आदी लोगों से अग्रिम क्षमायाचना सहित :) · आपके कंप्यूटर का मॉनीटर पत्नी है और सीपीयू पति · रैम पत्नी है और प्रोसेसर पति · कीबोर्ड पत्नी है और माउस पति · हार्ड डिस्क पत्नी है तो ऑप्टिकल डिस्क पति · विंडोज पति है तो एमएस ऑफिस पत्नी · सी++ पति है तो बेसिक पत्नी · एचटीएमएल5 पति है तो एक्सएमएल पत्नी · स्मार्टफ़ोन की बॉडी पति है तो उसका सेंसिटिव टचस्क्रीन…

आइए, पढ़ें डेस्कटॉप पीसी का मर्सिया...

चित्र
ये है रचनाकार के पाठकों के ताज़ातरीन आंकड़ों से लिए गए विशिष्ट और मजेदार विश्लेषणों में से एक -जनता मोबाइलों, टैबलेटों से ठांय ठांय पढ़ रही है और डेस्कटॉप / लैपटॉप अपनी मौत आप मर रहा है....रेस्ट इन पीस डेस्कटॉप!

साइबर क्राइम से आतंकित?

चित्र
अगर वाकई कहीं स्वर्ग है, और अगर वाकई आदमी स्वर्ग में जा सकता होगा, तो यकीनन वहाँ भी अपराधियों का डेरा होगा. और, ठीक यही तो हुआ है. इंटरनेट – यानी साइबर संसार जैसी खूबसूरत, स्वर्णिम जगह में भी अपराधियों ने न केवल अपने अड्डे बना लिए हैं, बल्कि अपराध करने के ऐसे तौर-तरीके ईजाद कर लिए हैं कि वे अब ऐसे पूरे सफेदपोश डॉन बन चुके हैं जिन्हें ढूंढ निकालना और पकड़ना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है. इंटरनेट की कुछ खास, उन्नत तकनीकों, जिन्हें किसी दूसरे अच्छे-भले प्रयोजनों के लिए सृजित किया गया है, ने भी अपराधियों को अनाम बने रहकर बेखौफ़ अपने अपराधों – जिनमें से अधिकांश रुपए पैसों की हेराफेरी और अमानत में खयानत के होते हैं – को अंजाम देने में भरपूर सहायता की है. इंटरनेट के शुरूआती दिनों से ही इसकी खूबसूरत तकनीक का और उनकी खामियों का इस्तेमाल इन्फ़ॉर्मेशन तकनॉलाज़ी से जुड़े और उसमें डूबे सफ़ेदपोश अपराधी करते रहे हैं – जिन्हें आम बोलचाल की भाषा में हैकर कहा जाता है. नब्बे के दशक में कंप्यूटर-इंटरनेट उपयोगकर्ता “आई लव यू” जैसे कंप्यूटर वायरसों से परेशान रहते थे जिन्हें हैकर अपने मौज-मजे के लिए जारी कर…

डीएसएलआर कैमरा चलाना कैसे सीखें? ऑनलाइन हैंड्सऑन ट्यूटोरियल

डीएसएलआर न भी हो तो आजकल हर व्यक्ति के जेब में एक अदद स्मार्ट मोबाइल फ़ोन होता है जिसमें डीएसएलआर जैसी गुणवत्ता वाला मुख्य कैमरा भी होता है. अब सवाल ये है कि अपने कैमरे से बढ़िया फ़ोटो कैसे खींचें?यूँ तो आजकल इलेक्ट्रॉनिक व्यूफ़ाइंडर और डिस्प्ले स्क्रीन पर दिखाई दे रहे दृश्य से यह तो पता चल ही जाता है कि चित्र कैसा आएगा, फिर भी, कभी कभी लाइटिंग कंडीशन के आधार पर हमें कैमरे में ऑटो मोड से बाहर निकल कर मैनुअल कैमरा सेटिंग करना पड़ता है, जिसे थोड़ा सीखना होता है. और यह थोड़ा ट्रिकी भी होता है, और बहुत बार थोड़ा उलझाऊ किस्म का भी.मुझे डीएसएलआर कैमरा ऑपरेट करना सिखाने वाली एक ऑनलाइन साइट मिल गई. सिमुलेशन आधारित. आनी ऑनलाइन, ब्राउजर में ही आपका कैमरा है और आप विभिन्न सेटिंग कर उसका उपयोग कर वास्तविक परिणाम देख सकेंगे. यह साइट मजेदार है और कैमरा ऑपरेशन और भी मजेदार. एक बार जरूर पधारें - साइट लोड होने में थोड़ा समय ले सकता है, परंतु इंतजार का फल मीठा भी तो होता है! - अपडेट - यदि नीचे विंडो खुलने में समस्या हो तो कृपया इस लिंक से सीधे ही साइट खोलें - http://camerasim.com/apps/original-camerasi…

ये टोरेंट टोरेंट क्या है?

चित्र
ये खबर,वैसे भी भ्रमित करने वाली है कि किसी टोरेंट को क्लिक करने पर भी 3 साल की जेल होगी. जिस किसी ने भी यह समाचार लिखा, संपादित किया और प्रकाशित किया है, उसकी तकनीकी दक्षता पर प्रश्नचिह्न तो है ही, पर यह बात भी सही है कि (खासकर तकनीकी मामले में) हर कोई हर किसी चीज के बारे में जानकारी नहीं रख सकता. यदि मैं किसी चिकित्सकीय विषय पर कुछ लिखूं (लिखने लगूं?), तो शायद ऐसे ही भ्रमित करने वाले लेख लिखूं! -क्योंकि चिकित्सा विज्ञान के मामले में मेरी जानकारी और ज्ञान सतही किस्म का और सुनी सुनाई बातों का ही है. बहरहाल, बिटटोरेंट / टोरेंट प्रोग्राम और टोरेंट फ़ाइलें पूरी तरह कानूनी है, और इसके उपयोग से किसी तरह का – एक बार फिर – किसी तरह का कोई कानून नहीं टूटता है, और न कोई सज़ा हो सकती है. सज़ा का प्रावधान तभी लागू होगा जब आप टोरेंट से किसी अवैधानिक, गैरकानूनी, कॉपीराइट वाली सामग्री को डाउनलोड करें और उसका उपयोग करें, और कोर्ट में यह साबित हो जाए कि आपने ऐसा किया है. ध्यान दें कि वैधानिक टोरेंट प्रोग्रामों – जैसे कि म्यूटोरेंट जैसे पर किसी तरह का प्रतिबंध न तो लगाया गया है और न ही लगाया जा सकता…

जा, मैं तुझे नहीं पढ़ता!

चित्र
और भी अनगिनत स्रोत हैं इंटरनेट पर पढ़ने के लिए!

रिलायंस इन्फ़ोकॉम (आरकॉम) ने मुझसे लूटे 5000+ रूपए!

चित्र
कैसे?सिलसिलेवार बताता हूँ.मेरे पास रिलायंस इन्फ़ोकॉम का एक  सीडीएमए ब्रॉडबैण्ड डॉगल नं - 9303372529 कई सालों से है. जो कि अब कंपनी द्वारा सीडीएमए सेवा बंद करने और जबरन 4 जी में अपग्रेड करने के कारण यह 4 जी सिम + वाईपॉड में बदल गया है.रिलायंस सीडीएमए सेवा के बंद होने का दुखड़ा मैंने अलग पोस्ट में यहाँ रोया था. वैसे, रिलायंस की सीडीएमए  तकनीकी रूप से (रिलायंस की सेवा नहीं,) बहुत अच्छी थी, इसके बंद होने का अफसोस रहेगा.इस ब्रॉडबैंड का उपयोग मैं बैकअप इंटरनेट कनेक्शन के लिए करता रहा हूँ.कंपनी ने 2014 में एक लाइफटाइम प्लान जारी किया.एक बार बस 3000 रुपए जमा कराओ, फिर जिंदगी भर (रिलायंस के लाइसेंस की अवधि - सन् 2021 तक) हर महीने 1 जीबी का डेटा पाते रहो.मेरे लिए तो यह अंधे को क्या चाहिए, दो आँखें जैसी बात थी क्योंकि अक्सर मैं प्रतिमाह लगभग 300 रुपए का रीचार्ज केवल इंटरनेट के बैकअप और पोर्टेबिलिटी के लिए खर्च करता था, तो इस तरह मेरा पैसा तो कोई साल भर में वसूल हो जाना था. परंतु मेरा लालच यहीँ मुझे ले डूबा. आदमी को लालची नहीं होना चाहिए - यह तो तय है. पर, तब किसे पता था कि रिलायंस सीडीएमए सेवा ब…

भारतीय भाषाओं के अच्छे दिन?

चित्र
यह तो बहुत पहले हो जाना था. ख़ैर, देर आयद…वैसे, अभी केवल कमेटी की सिफ़ारिश की रिपोर्ट फ़ाइनल हुई है. उम्मीद है कि सरकार पूरी ईमानदारी से इस सिफ़ारिश को लागू करेगी, वह भी जल्द से जल्द.साथ ही, भारत में बिकने वाले तमाम प्रोडक्ट के न केवल लेबलिंग, बल्कि यूजर मैनुअल - उपयोगकर्ता निर्देशिका को भी भारतीय भाषाओं में लाना अनिवार्य किया जाना चाहिए. बात तब बनेगी.पूरा आलेख यहाँ पढ़ें -http://epaper.patrika.com/c/12458444

अलविदा फ्लैश!

चित्र
इंटरनेट के कुछ बेहद खूबसूरत लम्हों के लिए, कुछ शानदार रंगीन आकर्षक वेबसाइटों के लिए धन्यवाद। लोगों ने भले ही तुम्हें भला बुरा कहा खासकर एप्पल की आंखों की किरकिरी रहे और तुम पर कंप्यूटर धीमा करने, रिसोर्स ज्यादा खाने के आरोप लगाए जाते रहे, मगर यह भी सच है कि खूबसूरत चीजें थोड़ी कीमती तो होती हैं!
ईश्वर आपकी आत्मा को शांति प्रदान करें।

हैलो ओरकुट!

चित्र
एक बार फिर से स्वागत है भारत भूमि पर, सोशल मीडिया में रंग भरने!

और, फेसबुक वाट्सएप्प पढ़ने वाले?

चित्र
शायद उल्टा प्रभाव पड़ता हो?

ईमानदार वही, जिसे मौका नहीं मिला!

चित्र
हेंस प्रूव्ड।

गऊ भक्ति की पराकाष्ठा

चित्र
मेरी गौ भक्ति में क्या अब भी है कोई शक?

रविरतलामी@जीमेल.कॉम अब एक वास्तविकता!

Hindi email addresses could soon be a reality for rural India

पूरा आलेख यहाँ पढें -

http://flip.it/MDenk

ताड़ी तो, वोटों के लिए अमृत समान है…

चित्र

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें