संदेश

February, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

दिव्य प्रकाश दुबे की TEDx में हिंदी में पहली प्रस्तुति : हिंदी तो बहुत कूल है यार!

चित्र
प्रतिष्ठित टेड वार्तालापों की श्रृंखला में हिंदी में प्रथम प्रस्तुति देने का ऐतिहासिक महत्व का कार्य किया है दिव्य प्रकाश ने. नीचे एम्बेडेड यू ट्यूब वीडियो पर पूरा मनोरंजक व्याख्यान देख-सुन सकते हैं. प्रस्तुति का स्क्रिप्ट नीचे है, जिसे दिव्य प्रकाश के फ़ेसबुक वाल से साभार प्रकाशित किया जा रहा है. देवियों और भाइयों, आज से पाँच- साढ़े पाँच साल पहले मैं एमबीए कॉलेज में पाया जाता था। एमबीए में इतनी presentations होती हैं कि कई बार आपको ये डाउट होता है कि कहीं आप masters in power point तो नहीं कर रहे । खैर आपको बिलकुल भी टेंशन लेने की जरूरत नहीं है मैं कोई प्रेजेंटेशन लेकर नहीं आया । यहाँ टेडx SIBM Bengluru में मुझे बुलाने के लिए पूरी टीम का बहुत धन्यवाद, ज़्यादा धन्यवाद इस बात का कि आपने मुझे हिन्दी में बोलने की पर्मिशन दी। हिन्दी दुनिया में चौथे नंबर पर सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है। इसको दुनिया भर में करीब 50 करोड़ लोग बोलते हैं। आपकी जेब में जितने भी रूपय का नोट पड़ा हो, आप उसको कभी ध्यान से देखेंगे तो पायेंगे हर नोट में 17 अलग अलग भाषाओं में लिखा होता है। जिसमें से दो भाषाएँ जिनक…

चैतन्य होती हिंदी

चित्र
यूरेका! एकदम अलग, नई खोज. हिन्दी की नई अंतरराष्ट्रीय अंतर्भाषीय लिपि. आइए आज ही अपनाएँ!

तेरा सिर अब मेरा ओ सजना....

चित्र
मैं तो किसी सुंदर नारी का सिर लगवाना चाहूंगा. ब्यूटी विथ ब्रेन!

जहाँ हर शाख पे उल्लू बैठे हों उस डाल का क्या होगा...

चित्र
... नो कमेंट्स!

आइए, रोस्ट करें!

चित्र
(एआईबी रोस्ट पर अमूल का विज्ञापन - साभार अमूल ) खुदा ख़ैर करे, अभी, चंद रोज पहले तक मुझे रोस्ट बीन्स और चिकन रोस्ट का ही पता था, परंतु दुनिया भले ही गोल हो, है यह बहुत बड़ी. बहुत ही बड़ी. अखबारों और सोशल मीडिया में हो रहे हल्ले से पता चला कि कोई एआईबी रोस्ट भी होता है. और, जब पता चला तो मानव खोजी मन कहाँ ठहरता है भला? ऊपर से, भले ही यू-ट्यूब पर एक एडमिन खास इसके संस्करणों को अपलोड होते ही डिलीट मारने बैठा हो, मगर अपलोडर – तू डाल डाल तो मैं पात पात की तर्ज पर सैकड़ों हजारों अलग-अलग नामों से रोस्टिया रहे हैं और इस एक ही एपिसोड के हजारों वर्शन तमाम वीडियो साइटों पर भिन्न भिन्न नामों से दर्शन दे रहे हैं. ऐसे में, मासूम दर्शक चाहे-अनचाहे, जाने-अनजाने रोस्ट हो ही जा रहा है. आपने ठीक समझा. आप ही की तरह हर कोई मुफ़्त में रोस्टिया रहा है, और अपने तरीके से रोस्टिया रहा है. किसी को यह भरपूर हँसी मजाक लग रहा है तो किसी देल्ही-बेली... को हिंसक लग रहा है. रोस्ट का मामला कुछ-कुछ ऐसा ही है - बिटर कॉफी का प्याला किसी को कड़वा लग सकता है तो किसी को किक दे सकता है. वैसे, मेरा बचपन उस मुहल्ले में गुजर…

क्या स्मार्ट टीवी आपकी जासूसी करते हैं?

चित्र
तकनीक दिनोंदिन स्मार्ट होती जा रही है. यहाँ तक कि, एक जमाने में बुद्धू बक्सा कहा जाने वाला टीवी भी अब स्मार्ट हो गया है. ठीक है, परंतु क्या आप स्वयं इतने स्मार्ट हुए भी हैं या नहीं कि इन स्मार्ट तकनीकों का स्मार्ट तरीके से प्रयोग करें, नहीं तो मामला उल्टे गले पड़ जाए!उदाहरण के लिए, यदि आपने अपने बेडरूम में स्मार्ट टीवी लगाया हुआ है तो क्या आपको यह पता है कि आपका स्मार्ट टीवी आपके बेडरूम में की जाने वाली इंटीमेट बातों को रेकार्ड कर उन्हें इंटरनेट पर अपलोड कर सकता है? और, यदि स्मार्ट टीवी में कैमरा लगा है तो ...?जी हाँ, यह संभव है. तो क्या स्मार्ट टीवी नहीं खरीदें? जी नहीं, स्मार्ट टीवी जरूर खरीदें. और यदि नहीं भी खरीदना चाहें तो क्रोमकास्ट जैसे डांगल से अपने टीवी को स्मार्ट अवश्य बनाएं. आखिर दुनिया स्मार्ट हो रही है तो आपका टीवी क्यों नहीं?हाँ, कुछ उपायों से आप इस तरह की समस्याओं से बच सकते हैं और अपने स्मार्ट टीवी का भरपूर उपयोग स्मार्ट तरीके से कर सकते हैं.आपकी आवाज, हावभाव पहचानता है आपका स्मार्ट टीवी :(एल जी स्मार्ट टीवी - टीवी में सर्च करने के लिए आपकी आवाज सुनता हुआ आपका स्मार्ट …

मात्र 699 रुपए में मोबाइल भी, साथ में हिंदी कीबोर्ड भी!

चित्र
यदि आपको अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में हिंदी में काम करना हो, तो अभी भी तमाम जुगाड़ करने होते हैं, और हिंदी का भौतिक कुंजीपट (वही, फ़िजीकल कीबोर्ड) तो ढूंढे से नहीं मिलता.परंतु, मोबाइल फ़ोनों के बाजार ने कंपनियों को दूसरे ढंग से सोचने के लिए मजबूर कर दिया है.नीचे के स्क्रीनशॉट देखें -हैंडसेट का बड़ा किया गया चित्र नीचे देखें -कीबोर्ड में डिफ़ॉल्ट अंग्रेज़ी के साथ साथ हिंदी भी न केवल अंतर्निर्मित है, बल्कि आसान प्रयोग के लिए, छपा हुआ भी है! सीखने रटने का झंझट भी नहीं.ये है बाजार की महिमा!!

कौन सुंदर कौन असुंदर

चित्र
कौन सुंदर कौन असुंदर सुंदरता के पैमाने असुंदर 
बनानी है गर दुनिया सुंदर कर ले अपनी निगाह सुंदर 
फकत वक्त की बात तो है आज सुंदर कल को असुंदर 
असुंदर लोग ही फिर क्यों ढूंढा फिरा करते हैं सुंदर
सत्य असुंदर,  असत्य सुंदर
सुंदर रवि तेरी बात असुंदर

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें