चेतन होती हिंदी

-----------

-----------

चेतन भगत का कहना है कि हिंदी को रोमन लिपि में लिखा जाना चाहिए.

 पण हिंया तो उल्टा हो रिया है. अपने अखबारों में तो रोमन लिपि को हिंदी में लिखा जा रिया है. हाथ कंगन को आरसी क्या - नीचे दिया गया चित्र देखें.

यानी आने वाला समय लिपि - भाषा मुक्त दुनिया!
बहुत ही भेस्ट!
 

-----------

-----------

0 Response to "चेतन होती हिंदी "

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.