सोमवार, 31 मार्च 2014

माइक्रोसॉफ़्ट डॉस और वर्ड के आरंभिक संस्करणों के सोर्स कोड सार्वजनिक जारी

(एमएस-डॉस वातावरण में अक्षर नामक सॉफ़्टवेयर के जरिए कंप्यूटरों हिंदी टाइपिंग की सुविधा एक बड़ी बात थी) वैसे तो ब्लैक-इंटरनेट (यानी इंटरनेट...

शुक्रवार, 28 मार्च 2014

बुधवार, 26 मार्च 2014

आप स्मार्ट हो रहे हैं या नहीं?

ये लीजिए. एक और. पहले फ़िलिप्स लेकर आया था, अब एलजी का बल्ब भी स्मार्ट हो गया. रोज ही नई नई खबरें आती हैं कि आज ये स्मार्ट हो गया, कल वो ...

शनिवार, 22 मार्च 2014

राजेश रंजन का आलेख - अपना कंप्यूटर अपनी भाषा में - अंतिम भाग - कंप्यूटरों का स्थानीयकरण

(पिछले भाग 6 से जारी) 11. स्थानीयकरण का ईंधन – फ़्यूल (FUEL) लगातार सॉफ़्टवेयर लोकलाइज़ेशन के लिए काम करते हुए जो ज़रूरत सबसे ज़्यादा म...

गुरुवार, 20 मार्च 2014

राजेश रंजन का आलेख - अपना कंप्यूटर अपनी भाषा में - भाग 6 : ऑफ़िस सूट, इंटरनेट ब्राउज़र, ईमेल तथा मैसेंजर

(पिछले भाग 5 से जारी...) 8.ऑफ़िस सूइट – ओपनऑफ़िस ओपनऑफ़िस कार्यालय में उपयोग में आने वाले अनुप्रयोगों का समूह है जिसका स्रोत कोड भी स...

बुधवार, 19 मार्च 2014

राजेश रंजन का आलेख - अपना कंप्यूटर अपनी भाषा में - भाग 5 : ऑपरेटिंग सिस्टम और डेस्कटॉप वातावरण

(पिछले भाग 4 से जारी...) 6. फ़ेडोरा सामान्य रूप से हर ओपन सोर्स प्रोजेक्ट में काम करने का बुनियादी तरीका सामान्य रहता है। मेलिंग लिस्ट, च...

रविवार, 16 मार्च 2014

राजेश रंजन का आलेख - अपना कंप्यूटर अपनी भाषा में - भाग 4 - अनुवाद के औजार

(भाग 3 से जारी) 5.अनुवाद के औज़ार अनुवाद का काम काफ़ी बड़ा काम होता है और इसे चुस्त-दुरूस्त तरीक़े और एकरूपता के साथ करने के लिए ऐसे औज़...

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------