तो फ़ेसबुक क्या भगवान है?

-----------

-----------

4 टिप्पणियाँ "तो फ़ेसबुक क्या भगवान है?"

  1. इस खबर का हिंदी अनुवाद किधर मिलेगा? भगवान से बात नहीं हो पा रही है जी!

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुझे लगता था की कुछ भी टाइप करते ही फेसबुक वाला पकड़ लेता होगा!

    उत्तर देंहटाएं
  3. जय हो, चाहते तो बहुत कुछ..

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.