रविवार, 30 दिसंबर 2007

मरफ़ी के नए साल के नए नवेले नियम

· नया साल नई समस्याएँ लेकर आता है. · नया साल सर्वथा नवीन, नूतन समस्याएँ लेकर आता है. · नया साल पुराने संकल्पों को ही लेकर आता है. . नए स...

शनिवार, 29 दिसंबर 2007

2007 में इंटरनेटी हिन्दी – कैसे बीता साल?

इंटरनेटी हिन्दी के लिए वर्ष 2007 अच्छा-खासा घटनाओं भरा रहा और कुल मिलाकर एक विहंगम दृष्टि डालें तो यह वर्ष हिन्दी के लिए बड़ा ही लाभकारी रहा...

शुक्रवार, 28 दिसंबर 2007

विज्ञापन अच्छे हैं...

किसी बढ़िया तेज रफ़्तार फ़िल्म के क्लाइमेक्स के ठीक पहले टीवी पर एक छोटा सा ब्रेक ले लिया जाए और अंतहीन विज्ञापनों का सिलसिला प्रारंभ हो जा...

गुरुवार, 27 दिसंबर 2007

हनी, आई श्रंक द पिक्स...

पिछले दिनों मेरा पॉप3 ईमेल क्लाइंट जाम हो गया. मेरा थंडरबर्ड जाम हो गया, जबकि कनेक्शन बढ़िया था. वो किसी एक ईमेल को डाउनलोड करने का प्रयास...

बुधवार, 26 दिसंबर 2007

देखन में छोटे लगें लाभ दें भरपूर...

ये किसी एडसेंसिया ब्लॉग पोस्ट की बात नहीं हो रही है. दरअसल इस ब्लॉग पोस्ट का आइडिया मोकालू गुरु के भूत ने पिछले दिनों मेरे सपने में आकर द...

मंगलवार, 25 दिसंबर 2007

ऑनलाइन चिट्ठा समस्या निराकरण गोष्ठी का सादर निमंत्रण

दोस्तों, हम सभी चिट्ठाकारों को समय समय पर तकनीकी दिक्कतें झेलनी होती हैं. खासकर हिन्दी के मामले में. हममें से कोई भी – फिर से एक बार, कोई भी...

शुक्रवार, 21 दिसंबर 2007

ओपन ऑफ़िस 2.x में हिन्दी वर्तनी जांचक लगाएँ.

ओपन ऑफ़िस मुफ़्त एवं मुक्त उपलब्ध ऑफ़िस सूट है, जिसे एमएस ऑफ़िस के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. उन्मुक्त इसे प्रारंभ से ही इस्तेम...

गुरुवार, 20 दिसंबर 2007

ब्लॉग यायावरी में यूनुस खान का कवितामयी दस्तक

दैनिक भास्कर उज्जैन के आज (गुरूवार 20 दिसंबर 2007) के संस्करण में यूनुस खान (जी हाँ, अपने रेडियोवाणी वाले) की निम्न कविता प्रकाशित हुई है – ...

मंगलवार, 18 दिसंबर 2007

हिन्दी कंप्यूटरी की कहानी : वेद प्रकाश की जुबानी

पुस्तक समीक्षा हिन्दी कंप्यूटरी सूचना प्रौद्योगिकी के लोकतांत्रिक सरोकार हिन्दी कम्प्यूटरी के भूत-वर्तमान-भविष्य की रोचक, उत्तेजक, मनोरं...

सोमवार, 17 दिसंबर 2007

ब्लॉगर, साहित्यकार से आगे है, और रहेगा.

(पिछले दिनों अनिल ने ब्लॉगर बनाम आम साहित्यकार पर विचारोत्तेजक लेख लिखा था जिसे आगे बढ़ाते हुए दिलीप ने हिन्दी चिट्ठाजगत् में गैंग और माफ...

मंगलवार, 11 दिसंबर 2007

कष्ट, क्रोध और उदासी भरा एक दिन...

सुबह 6 बजे अलार्म की घंटी बजी तो मजबूरन ठंड में ठिठुरते हुए उठना पड़ा. सुबह 6 बजे नल आता है. वह भी एक दिन छोड़कर. आज नल आने की बारी थी. और क...

रविवार, 9 दिसंबर 2007

एमएस ऑफ़िस हिन्दी 2007 – एक त्वरित नजर

यूँ तो हिन्दी एमएस ऑफ़िस 2007 के लिए मैंने कोई तीन-चार महीने से पंजीकरण करवाया हुआ था. माइक्रोसॉफ़्ट की साइट पर वादा किया गया था कि वो सीडी ...

मंगलवार, 4 दिसंबर 2007

मुझे इस पोस्ट से नफ़रत है...

आउटब्रेन - एक नो नॉनसेंस ब्लॉग रेटिंग सेवा आपके लिए अब पूरी तरह हिन्दी में अपनी सेवा लेकर आ गए हैं. इसे अब आप अपने ब्लॉग पर लगाइए, ...

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------