मंगलवार, 26 जून 2007

मेरा नारद कैसा हो? बिलकुल तेरी चाहत सा हो...

मैथिली जी ने मेरी एक पोस्ट पर टिप्पणी लिखी थी - आपकी निगाह में एक ब्लाग एग्रीगेटर में क्या क्या खूबियां होनी चाहिये ? आपकी चाहत का ब्लाग एग...

चिट्ठा चोरी

ब्लॉग पोस्ट की चोरी करो क्योंकि तुम पर निगाह नहीं रखी जा रही है... एक और हिन्दी ब्लॉग पोस्ट की चोरी. वह भी चित्र समेत! आमतौर पर साभार, कड़ी...

रविवार, 24 जून 2007

बेनामों – होशियार हो जाओ...

  आप सोचते हैं कि आप बेनाम या अनाम रहकर इंटरनेट पर गुल-गपाड़ा कर सकते हैं? तो आप गलत सोचते हैं या, रुकिए, शायद आप सही सोचते हैं... क्योंक...

शुक्रवार, 22 जून 2007

सोमवार, 18 जून 2007

संदर्भ नारद : इंटरनेट कभी नहीं भूलता - कभी भी नहीं.

कल अपने चिट्ठे पर मैंने लिखा था - नारद के आगे जहाँ और भी हैं. मैं गलत था. मैंने गलत लिखा था. आज स्थिति यह है कि हर तरफ नारद ही नारद नजर...

शनिवार, 16 जून 2007

नारद के आगे जहाँ और भी हैं

जी हाँ, नारद के आगे जहाँ और भी हैं... यूं मैंने तो अपनी बात अपरोक्ष और व्यंग्यात्मक लहज़े में पहले ही कह दी थी, परंतु जब ई-पंडित की ये...

शुक्रवार, 15 जून 2007

.... क्योंकि ये ब्लॉग मेरा है!

तुझे मिर्ची लगी तो मैं क्या करूं? मैं अपने ज्ञान और स्वज्ञान के भरोसे अपने ब्लॉग पोस्टों में, अपने हिसाब से, अपने विचार से, स्तरी...

गुरुवार, 14 जून 2007

ब्लॉगर इन ड्रॉफ़्ट - ब्लॉगर में सुविधाओं की झड़ी?

ब्लॉगर पर अब सुविधाओं की झड़ी लगने वाली है. कम से कम ऐसा तो प्रतीत हो ही रहा है. गूगल ब्लॉगर अब अपने ब्लॉग प्लेटफ़ॉर्म पर अन्य तमाम वे...

बुधवार, 13 जून 2007

निरंतर के पिछले अंकों में प्रकाशित रचनाएँ

वेबारू : इंटरनेट खोज का नया आयाम एक अनुमान के अनुसार इंटरनेट पर 20 अरब जालपृष्ठ हैं जिनका कुल सम्मिलित आकार लगभग 10 लाख जी.बी. है। इसे खं...

मंगलवार, 12 जून 2007

तरकश में पिछले माहों में प्रकाशित रचनाएँ

***-*** ताजमहल - अजूबा चुनने का अजूबा! वैसे भी, ये दुनिया कम अजूबा नहीं है. ऊपर से लोगबाग और भी ज्यादा अजूबाई करने लग जाते हैं. अब देखिए ना...

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---