January 2005

मेरी तीसरी आँख...

त्रिनेत्र *-*-* *-*-* अगर यह खबर सच है, कुछेक साल पहले के हर्बल पेट्रोल की तरह गलत खबर नहीं है, तो फिर निश्चित रूप से यह हमारे बहुत क...

इंडीब्लॉगीज़ के पुरस्कार विजेताओं ने शुरु की चैरिटी

इस दफ़ा के इंडीब्लॉगीज़ पुरस्कारों के विजेता अमित और अतुल ने अपने-अपने पुरस्कार की राशि को चैरिटी के नाम समर्पित करने की घोषणा की है. उन्ह...

लघुकथा

याचक भरी दुपहरी में, ज्येष्ठ के महीने में, जब रोहिणी नक्षत्र में सूर्य अपनी पूरी तपन वातावरण में प्रेषित कर रहा था, एक याचक नंगे पाँव द्...

आर. के. लक्ष्मण का आम आदमी...

आम आदमी को पद्म विभूषण इस दफ़ा 26 जनवरी 2005 को पद्म पुरस्कारों में आम आदमी भी पुरस्कृत हुआ है. आर. के. लक्ष्मण को पद्म विभूषण का पुरस्क...

सानिया वायरस...

सानिया वायरस का हमला... अन्ना कुर्निकोवा वायरस के बाद टेनिस जगत में अब सानिया मिर्ज़ा वायरस का हमला हो चुका है. आस्ट्रेलियन ओपन में ती...

गंदे लोग

महोदय, हम सचमुच गंदे लोग हैं. गुरचरण दास ने अजमेर यात्रा के अपने अनुभवों को बताते हुए पिछले सप्ताह टाइम्स ऑफ इंडिया में लिखा है कि वहाँ ...

व्हाई मेन लाई एण्ड वूमन क्राई...

कितना अंतर है, प्रिय, तुझमें और मुझमें ... प्रिये, मैं और तुम आज कंघे से कंघा मिलाकर बिना किसी जेंडर बायस के हर क्षेत्र में हम साथ साथ हैं...

आधुनिक युग की गीता...

आधुनिक युग का वास्तविक धर्मग्रंथः व्हाई मेन लाई एण्ड वूमन क्राई अगर किसी पुस्तक को खरीद कर, नहीं तो मांग कर, नहीं तो चुरा कर (बाई-बोरो-...

आओ आराम फरमाएँ...

अलालों के लिए अच्छी (?) ख़बर /*/ हमारे जैसे अलालों के लिए ये अच्छी (?) ख़बर है. हम अलाल दुनिया की छाती में मूंग दलने के लिए औरों क...

जी-मेल के जरिए करें हिन्दी में ई-मेल...

हिन्दी ई-मेल के लिए एक उत्तम औज़ार: जी-मेल *-*-* यूं तो हिन्दी में ई-मेल के लिए आजकल दर्जनों साधन उपलब्ध हैं, परंतु प्राय: उन सबमें कुछ न ...

फरार हो गया इंडिया...

सारा मुल्क फरार है... *-*-* बिहार के पाँच विधायक अर्से से फरार थे, जो, जाहिर है, चुनावी बेला पर नमूदार हो गए. इससे पूर्व केंद्रीय मंत...

चक्कर चाय का

व्यंग्य: चाय चलेगी? अगर आपको किसी तरह की कोई खास बीमारी न हो, किसी तरह की कोई कसम आपने न खा रखी हो और आपके चिकित्सक ने अलग से आपको मना न...

भारतीय छवि...

यही है भा र त की सही तस्वीर... *-*-* आर. के. लक्ष्मण, टाइम्स ऑफ इंडिया के ताज़ा अंक में कहते हैं: “सुनामी पीड़ितों, भूकंप पीड़ितो...

प्रिये तुझे पुकारे मेरे अनुगूंज...

में प्यार की गूंज *-*-* अनुगूँज के इस दफा के आयोजन के लिए आज से करीब अठारह वर्ष पहले, अपनी प्रेयसी [वर्तमान में भाग्य (दुर् या सौ ¿¿) स...

मैं खुश नहीं हूँ...

कृत्रिम खुशी ¿ /*/*/ आउटलुक पत्रिका के ताज़ा अंक में एक सर्वेक्षण प्रकाशित किया गया है जिसमें बताया गया है कि आम भारतीयों में से 75% ख...

हिन्दी शब्द संसाधक: माध्यम

माध्यम: पुराने तथा नए हिन्दी कुंजीपट के बीच एक सेतु *-*-* यूनिकोड हिन्दी इंटरनेट के लिए तयशुदा भाषा एनकोडिंग बन चुका है, और देर सबेर प...

मोबाइल भी चला हिन्दी में...

ना फिसल पकड़ -*-*- भारतीय भाषाओं के दिन निश्चित ही वापस गए हैं. पहले पहल नोकिया के मोबाइल में हिन्दी आया और अब सेमसंग ने अपने नए मोबाइल...

जन गण मन... जय हे...

न्यायिक अति-सक्रियता *-*-* कुछ समय से देश में जनहित याचिकाओं की बाढ़ सी आई हुई है. न्यायिक सक्रियता, न्यायिक अति-सक्रियता में बदल गई सी ...

क़ीमती तोहफ़ा

लघुकथा --- “दुल्हन दिखने में कैसी थी?” अजीज मित्र, प्रतीक के विवाह पार्टी से देर रात मेरे लौटने पर पत्नी ने मुझसे पूछा. वह अस्वस्थता की...
असफल राज्य पटना के बेऊर जेल में बंद पप्पू यादव के लिए बिहार से बाहर कोई ऐसा जेल ढूंढा जा रहा है, जहाँ पर वह जश्न नहीं मना सके, दरबार नही...

नक़ली इबादतें...

दिखावटी प्रार्थना ///*/// पिछले दिनों बीजेपी के बड़े, नामी-गिरामी नेता, जिनमें आडवाणी तथा संघ और जागरण मंच के गोविंदाचार्य भी शामिल थे,...

इंडीब्लॉग अवॉर्ड 2004 की नामज़दगियाँ

दोस्तों, इंडीब्लॉगी2004 पुरस्कारों के लिए मुझ नाचीज़ को भी जूरी बनाया गया था. मैंने भी अपने तईं कुछ पुरस्कार नामजद किए हैं...पर मैं यह कबू...

लहरों को कोई इल्जाम न दो...

सुनामी: कतरनें बोलती हैं… *-*-* हमें इसका ही इंतजार था. अन्यथा भारतीय मूल के टेड मूर्ति; जो प्रशांत महासागर के 26 देशों के लिए सुनामी भ...