मंगलवार, 27 जुलाई 2004

क्या यह न्याय है?

***** मैंने अपने पिछले दो-एक ब्लॉग में स्कूलों में दोपहर के भोजन की योजनाओं की प्रायोगिकता पर प्रश्नचिह्न खड़े किए थे. हादसों की एक और कड़ी...

शनिवार, 24 जुलाई 2004

ं मेरा देश रिज़र्व हो गया...

**** कुंभकोणम की हृदय विदारक घटना की आग अभी बुझ भी नहीं पाई थी कि मुम्बई के साकीनाका बीएमसी स्कूल में बच्चों के भोजन में कीड़ों के पाए जा...

गुरुवार, 22 जुलाई 2004

म़जेदार मीडिया सुर्खियाँ

आज़कल की कुछ मज़ेदार मीडिया सुर्ख़ियाँ- **** -- केंद्रीय मंत्री शिबू सोरेन को अदालत ने भगौड़ा घोषित किया , गिरफ़्तारी का वारंट ज़ारी किया,...

बुधवार, 21 जुलाई 2004

ऑर्ट-रेज़् एक बढ़िया पेंट प्रोग्राम

--- सॉफ़्टवेय़र समीक्षाः --- ऑर्ट-रेज़् (ArtRage): सुंदर रीयलिस्टिक कलाकृतियाँ सृजित करने का उच्चकोटि का मुक्त औज़ार --- दोस्तों, मैंन...

सोमवार, 19 जुलाई 2004

छपास की पीड़ा...

राजेन्द्र यादव ने हंस, जुलाई २००४ के संपादकीय में बड़े ही मज़ेदार तरीक़े से, चुटकियाँ लेते हुए, हिंदी साहित्य संसार के प्रायः सभी नए-पुराने ...

शनिवार, 17 जुलाई 2004

इट हैप्पन्स ओनली इन इंडिया...

बिकाज़ आर व़ी डूम्ड फ़ॉर इट? **** मैंने अपनी किसी पिछली पोस्टिंग में लिखा था कि भारत में पाठशालाओं को अप्रायोगिक तरीके से भोजनशालाओं में...

गुरुवार, 15 जुलाई 2004

प्रदूषित आस्थाएँ

**** प्रायः सभी मीडिया में आपने पाया होगा कि सावन के महीने में कॉवड़िए दूर दूर से गंगा नदी पर आते हैं और उसका का जल लेकर अपने आराध्य देव ...

मंगलवार, 13 जुलाई 2004

क्या कुछ सीख पाएंगे हम लोग?

*** भारत (और चीन की भी) की जनसंख्या के बारे में चौंकानी वाली बात एक और भी है. लिंग परीक्षणों जैसी सुविधाओं का उपयोग करते हुए भारत के अध...

रविवार, 11 जुलाई 2004

विश्व जनसंख्या दिवसः मेरा देश कहाँ जाएगा

*** आज विश्व जनसंख्या दिवस है. मैंने अपनी पिछली किसी पोस्टिंग में इस बात का जिक्र किया था कि भारत अपने असीमित संसाधनों के बावज़ूद कैसे बढ़त...

शनिवार, 10 जुलाई 2004

पोस्टल सम्मान...

*** एक अख़बार ने ख़बर छापी कि देश का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान अमृता प्रीतम को रजिस्टर्ड डाक से भेजा जाने वाला है चूंकि वे गंभीर अस्वस्...

शुक्रवार, 9 जुलाई 2004

ये देश भोजनशाला बन गया...

*** नए केंद्रीय बज़ट में सभी टेक्सपेयर्स को आयकर में २% सरचार्ज देना होगा, जो जन शिक्षण कार्यक्रमों में खर्च किया जाएगा. परन्तु सरकार की यो...

गुरुवार, 8 जुलाई 2004

घटिया हो तो चलेगासस्ता होना चाहिए

**** इकॉनामिस्ट स्वामीनाथन अय्यर ने रेल्वे बज़ट पर मज़ेदार टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि यह बज़ट देश के लिए नहीं है, वरन् लालू की कांस्टिट्यू...

मंगलवार, 6 जुलाई 2004

देश के विकास में टंगड़ी...

*** अरूण शौरी, जो कि भारत के मात्र कुछेक गिने चुने प्रतिबद्ध मंत्रियों में से रहे हैं, ने इंडियन एक्सप्रेस के अपने पिछले अंक में ग्राफ़िक ...

रविवार, 4 जुलाई 2004

एक ग़ज़ल ग़रीबों के नाम

**** भाई आलोक को उनकी टिप्पणी के लिए धन्यवाद. मुझे खुशी हुई कि आपको मेरी टूटी फूटी (छत्तीसगढ़ी भाषा, जहाँ मेरा बचपन गुज़रा, में, उत्ता धुर्...

शनिवार, 3 जुलाई 2004

रतलाम के बारे में...

**** भाई अतुल अरोरा को उनकी टिप्पणी हेतु हार्दिक धन्यवाद. रतलाम (मध्य प्रदेश) जहाँ मैं अभी रहता हूँ, वह दिल्ली तथा मुम्बई रेल लाइन के बीचो...

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------